बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Join Us

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत बिहार राज्य के किसानों के हित में किया गया है कृषि इनपुट अनुदान योजना के अनुसार प्राकृतिक आपदा के कारण फसल बर्बाद होने पर किसान को सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर के हिसाब से धनराशि मुहैया कराई जाती है

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बिहार राज्य में हर साल बाढ़ का खतरा बना रहता है जिसकी सहायता से किसान की फसल भी बर्बाद हो जाती है और किसानों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है कई बार बारिश और बाढ़ के कारण किसान की पूरी फसल खराब हो जाती है

इस योजना की सहायता से बिहार के किसान को 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर धनराशि दी जाती है बिहार में आने वाले किसान कृषि इनपुट योजना का लाभ उठा सकते हैं योजना के लिए किस प्रकार से आवेदन करना है? और कौन-कौन इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकता है पूरी जानकारी आप नीचे पढ़ सकते हैं

Bihar Krishi Input anudan yojana बिहार के 11 जिले के अंदर आने वाले किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं
जिले के नाम कुछ इस प्रकार है: किशनगंज, बांका, नालंदा, रोहतास, जहानाबाद, नवादा, गोपालगंज, पश्चिम चंपारण, पाटला, भोजपुर, बक्सर, भभुआ, गया, अरवल, औरंगाबाद, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, मुंगेर, भागलपुर, समस्तीपुर, शेखपुरा, लखीसराय, मधेपुरा जिलों में बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ उठाया जा सकता है योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी आवश्यक दस्तावेज ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया आवेदन फॉर्म आवेदन की स्थिति आदि सभी जानकारी पाने के लिए इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए

बिहार दाखिल खारिज ऑनलाइन कैसे करेंबिहार हर घर बिजली योजना

Bihar Krishi Input Anudan Yojana

कृषि इनपुट अनुदान योजना की सहायता से बिहार राज्य के किसानों को फसल बर्बाद होने पर प्रति हेक्टेयर के हिसाब से ₹6800 बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं सिंचाई वाली भूमि के लिए ₹13500 प्रति हेक्टेयर और बालू जमा भूमि के लिए सरकार किसान को ₹12200 प्रति हेक्टेयर राशि प्रदान की जाती है

कृषि इनपुट अनुदान योजना क्या है?

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना एक क्रांतिकारी योजना है जो बिहार सरकार द्वारा राज्य में किसानों को समर्थन देने के लिए शुरू की गई है। यह योजना किसानों को बीज, उर्वरक और कीटनाशक जैसे कृषि आदानों की खरीद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को खेती के लिए आवश्यक इनपुट खरीदने और उनकी समग्र कृषि उत्पादकता में सुधार करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाना है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना वर्ष 2018-19 में शुरू की गई थी और वर्तमान में चल रही है। यह योजना बिहार राज्य कृषि विपणन बोर्ड (BSAMB) द्वारा कार्यान्वित की जाती है और राज्य के सभी पात्र किसानों के लिए उपलब्ध है।

राज्यबिहार
योजना का नामकृषि इनपुट अनुदान योजना
सरकारबिहार सरकार
विभागबिहार कृषि विभाग
लाभ लेने वालेराज्य के किसान
ऑफिसियल वेबसाइटdbtagriculture.bihar.gov.in

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी

इस योजना के तहत, किसान सरकार द्वारा निर्धारित अधिकतम सीमा के अधीन कृषि आदानों की लागत पर 50% तक की सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं। प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (DBT) के माध्यम से सब्सिडी की राशि सीधे लाभार्थी किसान के बैंक खाते में स्थानांतरित की जाती है।

The following table shows the maximum subsidy amount for different inputs:

InputMaximum Subsidy Amount
Seeds (Hybrid/ OPV)Rs. 2000/- per quintal
FertilizersRs. 3500/- per hectare
PesticidesRs. 2500/- per hectare
Sprayers/ DustersRs. 5000/- per unit

कृषि इनपुट अनुदान योजना का उद्देश्य

जैसा कि सभी जानते हैं कि अचानक मौसम बदलने से या फिर अचानक से बारिश होने पर किसान की फसल को काफी नुकसान पहुंचता है जिसके कारण वह आर्थिक स्थिति से कमजोर हो जाता है और काफी दिक्कत का भी सामना करना पड़ता है किसान के पास आए का केवल एक ही साधन होता है

जो कि वह फसल बेचकर पूरा करता है परंतु प्राकृतिक आपदा आने के कारण कई बार फसल को काफी नुकसान पहुंचता है और किसान भाई को नुकसान का सामना करना पड़ता है इस योजना के तहत बर्बाद हुई फसल का सरकार प्रति हेक्टेयर के अनुसार से किसान को कुछ धनराशि दी जाती है जिससे वह कुछ हद तक अपने नुकसान की भरपाई कर सकता है

बिहार राशन कार्ड रजिस्ट्रेशन फॉर्म मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना का प्राथमिक उद्देश्य राज्य में कृषि उत्पादकता और किसानों की आय में सुधार करना है। योजना का उद्देश्य कृषि आदानों की खरीद के लिए किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करके इस उद्देश्य को प्राप्त करना है। इस योजना का उद्देश्य गुणवत्तापूर्ण कृषि आदानों के उपयोग को बढ़ावा देना और खेती की लागत को कम करना भी है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना मिलने वाला लाभ

जो किसान बिहार कृषि इनपुट योजना के तहत आवेदन करता है उसे किस प्रकार के लाभ मिलते हैं इस सभी की जानकारी निम्न प्रकार से नीचे बताई गई है

  • किसान के लिए ₹1000 की अनुदान राशि भी तय की गई है
  • अनुदान की राशि 2 हेक्टेयर जमीन जिस किसान के पास होती है उसको दी जाती है
  • किसान केवल ऑनलाइन माध्यम से आवेदन फॉर्म भर सकता है
  • सिंचाई वाली भूमि पर सरकार द्वारा ₹13500 की राशि प्रदान की जाती है आंधी बारिश से फसल बर्बाद होने पर ₹6800 प्रति हेक्टेयर की राशि की मदद दी जाती है
  • जिस भूमि पर बालू जमा होता है उसके लिए सरकार किसान को ₹12200 प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान राशि दी जाती है
  • वित्तीय सहायता: यह योजना किसानों को कृषि आदानों की खरीद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है, जिससे उन पर वित्तीय बोझ कम होता है।
  • उत्पादकता में वृद्धि: गुणवत्तापूर्ण कृषि आदानों के उपयोग से फसलों की समग्र उत्पादकता में सुधार हो सकता है, जिससे किसानों की उपज और आय में वृद्धि हो सकती है।
  • खेती की लागत में कमी: कृषि आदानों के लिए सब्सिडी प्रदान करके, योजना का उद्देश्य किसानों के लिए खेती की लागत को कम करना है।
  • सतत कृषि को बढ़ावा: गुणवत्तापूर्ण आदानों का उपयोग टिकाऊ कृषि पद्धतियों को बढ़ावा दे सकता है और हानिकारक रसायनों और कीटनाशकों के उपयोग को कम कर सकता है।
  • किसानों का सशक्तिकरण: यह योजना किसानों को उनकी कृषि उत्पादकता और आय में सुधार के लिए आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान करके सशक्त बनाती है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना पात्रता

  • किसान बिहार का निवासी होना चाहिए और उसके पास वैध आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक को वर्तमान या पिछले कृषि मौसम में खेती की हुई भूमि होनी चाहिए।
  • किसान के नाम से बैंक खाता होना चाहिए।
  • किसान को वर्तमान या पिछले कृषि मौसम के दौरान खेती के लिए कृषि आदानों की खरीद करनी चाहिए।
  • किसान को वर्तमान या पिछले कृषि मौसम के दौरान समान इनपुट के लिए किसी अन्य कृषि सब्सिडी का लाभ नहीं उठाना चाहिए था।
  • किसान को निर्धारित समय अवधि के भीतर सब्सिडी के लिए आवेदन करना चाहिए

आवेदन करने हेतु महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • किसान का आधार कार्ड
  • भूमि के कागजात
  • निवास प्रमाण पत्र
  • घोषणा पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो

कृषि इनपुट अनुदान ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको नीचे बताए गए स्टेप्स को ध्यानपूर्वक पढ़ें

  • ऑनलाइन आवेदन के लिए सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की अधिकारिक वेबसाइट को जाए
  • होम पेज पर आने के बाद आपको ऑनलाइन आवेदन के बटन पर जाकर कृषि इनपुट अनुदान योजना के लिंक पर क्लिक करें
Krishi Input anudan yojana
  • अगले पेज पर कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत आवेदन खुल जाएगा
  • आपको अपना किसान पंजीकरण संख्या डालें और सर्च के बटन पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलेगा जहां पर आपको अपना नाम, माता-पिता का नाम, आधार नंबर, पंचायत आदि जानकारी भरनी होगी
  • अपना मोबाइल नंबर डालें और ओटीपी के द्वारा वेरीफाई करें मांगी गई सभी जानकारी को ध्यान से भरे और जरूरी दस्तावेज को अपलोड करें

कृषि इनपुट अनुदान योजना की आवेदन स्थिति कैसे चेक करें

  • कृषि इनपुट अनुदान योजना के आवेदन की स्थिति जानने के लिए सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • होम पेज पर आते ही आवेदन की स्थिति/ आवेदन प्रिंट के ऑप्शन पर जाएं और इनपुट सब्सिडी(2019-20) की स्थिति के ऑप्शन पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने स्टेटस (Check Application Status for Drought) चेक करने के लिए फॉर्म खुलेगा
  • जिसमें आपको अपना एप्लीकेशन नंबर डालें
  • सर्च बटन पर क्लिक करें

DBT Agriculture Bihar gov in

आवेदन इनपुट सब्सिडी प्रिंट कैसे करें?

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना सब्सिडी प्रिंट देखने के लिए नीचे बताए गए स्टेप्स को ध्यान से फॉलो करें

  • बिहार की कृषि विभाग वेबसाइट पर जाएं
  • बिहार कृषि विभाग के होम पेज पर आवेदन की स्थिति/ आवेदन प्रिंट ऑप्शन पर जाकर इनपुट सब्सिडी प्रिंट के लिंक पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने नया पेज खुलेगा जहां पर आपको अपनी रजिस्ट्रेशन आईडी डालें
  • Search के बटन पर क्लिक करके अपना सब्सिडी प्रिंट कर सकते हैं

किसान पंजीकरण फॉर्म में सुधार कैसे करें?

  • किसान पंजीकरण फॉर्म में सुधार करने के लिए कृषि विभाग बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • अब आपके सामने होम पेज पर विवरण संशोधन के ऑप्शन पर जाएं और विवरण संशोधन किसान पंजीकरण के लिंक पर क्लिक कर दें
  • नए पेज पर आने के बाद आपको DEMOGRAPHY + OTP के ऑप्शन को चुने
  • फिर उसके बाद आधार नंबर डालें
krishi input anudan yojana
  • आधार कार्ड पर जो नाम है वह दर्ज करें
  • अब AUTHENTICATION बटन पर क्लिक करें
  • अब आप के आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर OTP आता है जिसे डालकर आप वेरीफाई करें
  • अब आप आगे अपने बैंक खाता में कोई भी सुधार कर सकते हैं

रजिस्ट्रेशन फॉर्म की जांच कैसे करें

  • किसान को सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा
  • होम पेज पर आने के बाद विवरण संशोधन के ऑप्शन पर क्लिक करके पंजीकरण सुधार की जांच के लिंक पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने नया पेज खुलेगा जहां पर आपको पंजीकरण संख्या भरनी होगी
  • पंजीकरण संख्या भरने के बाद Search के बटन पर क्लिक करें

सारांश:

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना राज्य में कृषि उत्पादकता और किसानों की आय में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह योजना किसानों को बीज, उर्वरक और कीटनाशक जैसे कृषि आदानों की खरीद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इस योजना के किसानों के लिए वित्तीय सहायता, उत्पादकता में वृद्धि और खेती की लागत में कमी सहित कई लाभ हैं।

हालाँकि, योजना को सीमित कवरेज, कार्यान्वयन मुद्दों और सीमित जागरूकता जैसी चुनौतियों का भी सामना करना पड़ता है। सरकार को योजना के प्रभावी कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने और किसानों को सशक्त बनाने और स्थायी कृषि प्रथाओं को बढ़ावा देने के अपने उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए इन चुनौतियों का समाधान करना चाहिए।

FAQs:

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना क्या है?

बिहार राज्य में किसान की फसल बर्बाद होने पर किसान के नुकसान की भरपाई के लिए बिहार सरकार द्वारा किसान को धन राशि मुहैया कराया जाता है

कृषि इनपुट अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

सबसे पहले बिहार कृषि विभाग की अधिकारिक वेबसाइट को जाए और होमपेज पर आने के बाद कृषि इनपुट अनुदान योजना के लिंक पर क्लिक करें और ऑनलाइन आवेदन करे

इनपुट सब्सिडी प्रिंट कैसे करें?

बिहार कृषि विभाग के होम पेज पर आवेदन की स्थिति/ आवेदन प्रिंट ऑप्शन पर जाकर इनपुट सब्सिडी प्रिंट के लिंक पर क्लिक करें

Leave a Comment