e Dharti | Rajasthan Apna Khata Portal | राजस्थान अपना खाता पोर्टल 2021 | अपना भूमि रिकॉर्ड चेक करे online

e Dharti:- जैसा कि आप सभी जानते हैं कि सरकार द्वारा “डिजिटाइजेशन” की प्रक्रिया बहुत तेजी से चल रही है। इस प्रक्रिया के तहत सभी प्रकार के दस्तावेज ऑनलाइन उपलब्ध और अपडेट कराए जा रहे हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने अपना खाता “e Dharti ऑनलाइन पोर्टल apnakhata.raj.nic.in” शुरू किया है।
आज इस लेख में हम राजस्थान के भुलेख विवरण के पोर्टल e Dharti ऑनलाइन पोर्टल apnakhata.raj.nic.in के बारे में जानेंगे, जैसे की इस पोर्टल का क्या लाभ है, इसका उपयोग कैसे करना है, इस पोर्टल के अलग अलग भाग या आप्शन क्या क्या काम आते है , इन सब के बारे में सारी जानकारी अब हिंदी में आपको यहाँ मिलेगी,e dharti rajasthan, e dharti apna khata, e dharti app, e dharti 1.0, e dharti geoportal

e Dharti ऑनलाइन पोर्टल:-

e Dharti ऑनलाइन पोर्टल apnakhata.raj.nic.in” की सहायता से राज्य के सभी लोग अपने भूमि संबंधी दस्तावेजों का विवरण ऑनलाइन बड़ी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। e Dharti पोर्टल के माध्यम से आप खेती की जमाबंदी, खसरा नंबर, जमीन का नक्शा आदि देख और चेक कर सकते हैं। अब राजस्थान के लोगो को अपनी जमीन से जुडी हुई जानकारी लेने के लिए किसी सरकारी कार्यालय या पटवारी का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। वे घर बैठे बैठे e Dharti पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट का उपयोग कर के अपनी जमीन से जुडी हुई सभी जानकारी को देख और चेक करने के साथ साथ डाउनलोड भी कर सकते है,

राजस्थान अपना खाता पोर्टल “e Dharti ऑनलाइन पोर्टल ” के नाम से भी राजस्थान की जनता के बीच लोकप्रिय है , इस पोर्टल से राजस्थान की जनता के समय की बचत होगी और सरकारी व्यवस्था में पारदर्शिता भी आएगी। ई धरती पोर्टल के माध्यम से यह भी पता लगाया जा सकता है कि किस व्यक्ति के नाम कौन सा खसरा नंबर है या जमीन का मालिक कौन है। “e Dharti पोर्टल” द्वारा प्राप्त भूमि के अपने खाते के दस्तावेज दिखाकर भी बैंक से ऋण लेने के लिए भी उपयोग में लाया जा सकता है,

इस पोर्टल के आने से पहले ये सारा रिकॉर्ड ऑफलाइन रजिस्टर में रिकॉर्ड होता था , जो की उस क्षेत्र के पटवारी या तहसील में रहता था, इतने बड़े प्रदेश के भूमि के रिकॉर्ड को सम्भालने के लिए अधिकारियो को बड़ी मशकत करनी पडती थी और अगर किसी के रिकॉर्ड को खोजना पड़ता तो उसमे भी बहुत समय लगता था,

 मध्‍यप्रदेश ट्रायबल अफेयर आटोमेशन सिस्‍टम

e Dharti ऑनलाइन पोर्टल का मुख्य उद्देश्य:-

(Main objective of E- dharti online Portal):-

e Dharti online पोर्टल का प्रमुख उदेश्य यह है की राजस्थान का सारा भूमि का रिकॉर्ड ऑनलाइन हो कर कंप्यूटर कृत हो जाए, जो की इस आधुनिक इन्टरनेट के युग में बहुत जरूरी है , इस पोर्टल से भुलेख रिकॉर्ड ऑनलाइन हो जाने से राजस्थान की जनता को अपनी भूमि के बारे में अलग अलग जानकारी पाने के लिए कहीं जाने की जरूरत नही पड़ेगी ,वे घर बैठे बैठे अपनी भूमि का रिकॉर्ड आसानी से देख पायेगे और उसका उपयोग कर सकते है,

इस रिकॉर्ड के ऑनलाइन हो जाने से सरकार ओ जनता दोनों के बिच एक तालमेल बना रहेगा जिससे जनता को कोई कठिनाई नही होगी , और तुरंत ऑनलाइन इन्टरनेट के माध्यम से सारी जानकारी उपलब्द हो सकेगी, यह e Dhartiपोर्टल की वजह से अब अधिकारियो को भूमि का खसरा और खतौनी नंबर के बारे में जानकारी सीधे ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट करनी होती है,जो की बहुत सरल और समय बचाने वाला कार्य है,

| बिहार लेबर कार्ड (श्रमिक) रजिस्ट्रेशन | 

e Dharti पोर्टल के प्रमुख लाभ और विशेषताय :-

Main benefits of e Dharti पोर्टल:-

  1. इस e Dharti पोर्टल का सबसे बड़ा लाभ यही है की इस के माध्यम से राजस्व विभाग राजस्थान के तहत सारी भूमि का रिकॉर्ड ऑनलाइन दर्ज हो गया है,
  2. रिकॉर्ड ऑनलाइन होने से उस रिकॉर्ड को अधिक समय तक रजिस्टर में रखने की आवश्यकता नही रहती जिससे रजिस्टर मेन्टेनेन्स करने की भी कम जरूरत पडती है,
  3. इस e Dharti पोर्टल के द्वारा राजस्थान की जनता को कोई भूमि के रिकॉर्ड के लिए तहसील में चक्कर लगाने की आवश्यता नही पड़ेगी ,
  4. इस पोर्टल के माध्यम से कोई भी अपने क्षेत्र के नाम से या अपनी भूमि के खसरा या खतौनी संख्या से उस भूमि के रिकॉर्ड को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से search कर सकता है,
  5. इस पोर्टल पर भूमि का ऑनलाइन नक्शा भी उपलब्ध करवाया गया है , जिस कारण अगर किसी को अपनी भूमि का नक़्शे की जरूरत हो तो उसे अब किसी पटवारी से मिलने की आवश्यकता नही रहेगी ,
  6. इस पोर्टल का एक लाभ यह भी है की सरकार के पास अपनी भूमि का सही रिकॉर्ड भी रहता है जिस कारण अवैध भूमि कब्जे जैसी समस्याओ का निपटरा जल्दी हो जाता है,
  7. e Dharti पोर्टल पर भूमि की स्थिती और उसके मलिकना हक़ के बदलाव के अनुसार डाटा अपडेट होता रहता है , जिस वजह से अगर किसी को कोई रिकॉर्ड में कोई त्रुटि लगती है या कोई आपति है तो वह आसानी से अपनी आपति को दर्ज करवा कर उस रिकॉर्ड को सही अपडेट करवा सकता है,

अपने खाते की जमाबंदी या नामांतरण की प्रतिलिपि डाउनलोड करने की प्रक्रिया :-

e Dharti
  • वहां आपको होम पेज पर राजस्थान का पूरा नक्शा दिखयी देगा जिसमे से आपको अपने जिले के नाम के उपर क्लीक करना होगा,
e Dharti | Rajasthan Apna Khata Portal | राजस्थान अपना खाता पोर्टल 2021 | अपना भूमि रिकॉर्ड चेक करे online
  • उसके बाद आपके सामने आपके जिले का नक्शा आ जायेगा जिसमे से आपको अपनी तहसील के नाम पर क्लीक करना है.
e dharti online portal
  • तहसील चुनने के बाद आपके सामने सभी गांवों के नाम की लिस्ट आएगी जिसमे से आपको अपने गाँव को चुनना है,
  • उसके बाद पूछी गयी जानकारी जैसे की आवेदक का नाम , पता , शहर और पिन कोड आदि को सही से भरन होगा,
  • फिर आपको अपने खसरा नंबर या नाम में से एक के विकल्प का चुनाव कर के सबमिट करना होगा,
  • सबमिट करने के बाद आपके सामने उस खसरा या नाम से उस भूमि का विवरण आ जायेगा,

सभी नयी नयी सरकारी योजनाओ के बारे में सरकारी अपडेट प्राप्त करते रहने के लिए हमारे सोशल मीडिया ग्रुप को ज्वाइन करे, और कोई भी किसी योजना से जुड़ा हुआ सवाल पूछने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करे,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *